Connect with us

tech help

▷What Is Web Page In हिंदी-Complete Information 11 steps

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

जैसा की आप web page in hindi में जानकारी चाहते है। की आखिर ये वेबपेज क्या होता है। और कैसे बनाया जाता है। तो हम आपको बता दे की आप ये जानकारी एक वेबपेज में ही पढ़ रहे है। जी हाँ यह केवल एक वेबपेज ही है। हम आपको सारी जानकारी देंगे वेबपेज और वेबसाइट के बारे में।

information steps list

1. web page overview in hindi
2. what is web page in hindi
3. webpage कैसे लिखा जाता है।
4. webpage इंटरनेट से कैसे जोड़ा जाता है।
5. webpage बनाया कैसे जाता है।
6. homepage क्या होता है।
7. category page क्या है।
8. difference between static and dynamic web page in Hindi
9. Types of Webpage in Hindi
10. Static Website
11. Dynamic Webpage

1. web page overview in hindi

दोस्तों हम पूरी कोशिश करेंगे की आपको आसानी से समझा पाए। की आखिर वेबपेज क्या होता है। वेबपेज की परिभाषा क्या होती है। , वेबपेज के प्रकार कितने होते है। , वेबपजे कैसे बनाते है। वेबपेज के प्रकार कितने होते है। वेबपेज किस प्रकार मोबाईल या कम्प्यूटर में दिखाई देता है। होम पेज , वेबपेज और वेबसाइट में क्या अंतर् है। इस प्रकार के सभी सवालों के जवाब आपको जवाब मिल जाऐंगे. तो चलिए विश्तार से जानते है।

2. what is web page in hindi

जैसा की हमने आपको शुरुआत बताया है। की ये जानकारी आप एक वेबपेज में ही पढ़ रहे है। हम आपको बता दे की आप किसी भी मोबाईल, लैपटॉप, pc, कम्प्यूटर या टैब जैसे उपकरणों से कोई भी जानकारी इंटरनेट में खोजते है।

और जो भी जानकारी आपको लिखित रूप में देखने को मिलती है। वह आपको एक webpage में ही देखने को मिलती है। यह एक पेज ही होता है। जैसा की किसी बुक में पेज होता है। फर्क केवल इतना है।

की यह पेज इंटरनेट पर होने के कारण इसे वेबपेज कहा जाता है। और किसी बुक के पेज को केवल पेज कहा जाता है। वेबपेज कोई भी टेक्स्ट को लिखने के बाद सुधारा जा सकता है। और किसी भी प्रकार से कोई कटिंग का निशान भी नहीं रहता है।

वही अगर हम किसी साधारण बुक के पेज में किसी भी टेक्स्ट की सुधारते है ,तो उसका निशान भी हमे दिखाई देता है। वेबपेज में हम टेक्स्ट के साथ इमेज, वीडियो, या gif का उपयोग कर सकते है। हालाँकि हम सिंपल बुक के पेज को टेक्स्ट और इमेज तो दे सकते है।

लेकिन वीडियो और gif का उपयोग नहीं कर पाते है। उदाहरण के लिए हम आपको एक gif का उपयोग कर के दिखते है। हालाँकि सभी

को वीडियो के बारे में तो मालूम होता है। लेकिन gif का अनुमान नहीं है। आप निचे ये इमेज देख सकते है। इस प्रकार की हिलने डुलने वाली इमेज को gif कहते है।

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

तो इस प्रकार की इमेज को भी वेबपेज के शामिल किया जा सकता है। जो की बुक वाले पेज में नहीं जोड़ी जा सकती है। जिस प्रकार हम किसी बुक में पेज की तलाश पेज नंबर से करते है। उसी प्रकार वेबपेज की खोज url से की जाती है। url वेबपेज के लिए पेज नंबर के समान कार्य करता है।

3. webpage कैसे लिखा जाता है।

हम आपको बता दे की वेबपेज सिंपल टेक्स्ट के रूप में नहीं लिखा जाता है। जैसा की हम किसी बुक के पेज में लिखते है। वेबपेज को लिखने के लिए html का उपयोग अधिक किया जाता है।

हालंकि अन्य कई भाषा में भी वेबपेज होते है। लेकिन अधिक उपयोग html का ही होता है। html एक भाषा का नाम है। जिसे कम्प्यूटर समझता है। पहले आप यह एक इमेज देखिये फिर आप आसानी से समझ पाएंगे।

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

अब आप देखिये की इस इमेज में आपको कुछ नंबर सिम्ब्ले और टेक्स्ट दिखाई दे रहे है। यह एक html कोड है। इस प्रकार से html कोड लिखा जाता है। और इस पेज को इंटरनेट में होस्ट (रखा ) जाता है।

और एक url के साथ जोड़ दिया जाता है। अब जैसे की इस पेज को कोई व्यक्ति देखना या पढ़ना चाहेगा। तो यूआरएल गूगल या किसी अन्य ब्रौज़र में डालेगा तो ब्रौज़र उस कोड पर जाता है।

और उस html को पढ़ता है। और पढ़ने के बाद आपको मोबाईल या अन्य किसी भी स्क्रीन में दिखता है। लेकिन आपको केवल उसमे लिखे गए टेक्स्ट , वीडियो , इमेज आदि ही दिखता है। अन्य कोई कोड आपको नहीं दिखता है।

आपने देखा है की एक webpage में कुछ टेक्स्ट छोटे आकर के कुछ बड़े आकर के कुछ टेक्स्ट अलग आकर व रंग में दिखाई देते है। उसका कारण यही रहता है। की उस html कोड में उन टेक्स्ट को इस प्रकार से दिखने के निर्देश दिए गए है। और उन्ही निर्देशों का पालन करते हुए ब्रौज़र हमे टेक्स्ट इन आकर और रूप में दिखता है।

4. webpage इंटरनेट से कैसे जोड़ा जाता है।

आपने ये तो जान ही लिया है। की वेबपेज क्या होता है। और कैसे लिखा जाता है। अब हम आपको बता दे की वेबपेज को कैसे internet से जोड़ा जाता है। और कैसे url बनता है। जिसकी मदद से वेबपेज को खोजा जाता है।

तो चलिए जानते है। वेबपेज को एक html कोड में लिखने के बाद एक होस्टिंग में रखा जाता है। अगर आप नहीं जानते की होस्टिंग क्या है। तो हम आपको बता दे की वेबहोस्टिंग इंटरनेट में एक स्थान होता है।

जहाँ हम वेबपेज जैसे डॉक्यूमेंट रखते है। आप ऐसा मान लीजिये जैसे हम कोई दुकान या मकान खरीदते है। अपना सामान रखने लिए। उसी प्रकार यह भी एक स्थान होता है। इसमें हम html पेज को रखने के बाद एक एक नाम के साथ जोड़ देते है।

उस नाम को हम डोमेन के नाम से जानते है। यह डोमेन नेम हमे इंटरनेट से ही खरीदना होता है। जब हम होस्टिंग डोमेन को आपस में जोड़ देते है। तो उस नाम को http या https के साथ भी जोड़ा जाता है।

ये कार्य होने के बाद आपको एक सही और स्टिक url मिल जाता है। जिसे हम किसी भी ब्रौज़र में डाल कर सर्च करते है। तो हमारा वेबपेज खुल कर हमारे सामने आ जाता है।

5. webpage बनाया कैसे जाता है।

वेबपेज को बनाने के लिए हमे एक लैपटॉप या कम्प्यूटर की आवश्कता होती है। और साथ ही एक एडिटर की भी आवश्कता होती है। एडिटर notepad ++ विसुअल स्टूडियो कोड एडिटर का उपयोग कर सकते है।

वेबपेज को बनाना कोई मुसिक या परेशानी वाला काम नहीं है। आपको केवल html और css का अनुभव होना चाहिए। अगर आपके पास ये अनुभव नहीं है। तो आप वेबपेज का निर्माण नहीं कर पाएंगे। अगर आप एक वेबपेज का निर्माण करने के इच्छुक है।

तो आपको इस पोस्ट html in hindi में जा सकते है। आप केवल इस जानकारी को पढ़ कर ही एक वेबपेज का निर्माण कर पाएंगे। क्योकि इसमें आपको बहुत ही बारीकी से html को समझने का मौका मिलेगा।

आपको वहाँ वो सभी टैग भी मिल जायेंगे। जिनका उपयोग करना आवश्क होता है। हम आपको बता दे की टैग html का मुख्य भाग होता है। जिसके बिना किसी भी वेबपेज का निर्माण नहीं किया जा सकता है।

साथ ही आपको इसमें कुछ कोड भी मिल जायेंगे। जिनको आप कॉपी कर के अपने वेबपेज के निर्माण के लिए भी उपयोग कर सकते है। ताकि आपको कोड लिखने में कोई परेशानी न रहे।

क्योकि शुरुआती दौर में कोड को लिखना थोड़ा सा मुश्किल होता है। लेकिन आपको भले ही कोड को लिखने में कोई परेशानी हो लेकिन आपको कोड समझने में कोई परेशानी नहीं होगी। हमने बारीकी से और आसान शब्दों में html को समझाने की कोशिश की है। तो आप सीखना चाहते है। तो सीख सकते है।

6. homepage क्या होता है।

होम पेज किसी भी साइट मुख्य पेज को कहा जाता है। जैसे की अगर आप की भी वेबसाइट को उसके पुरे यूआरएल के साथ search करते है।

तो आप उस वेबसाइट के होम पेज में ही जाते है। उदाहरण के लिए अगर आप लिखते है। ‘www medium.com” तो आपके सामने ”medium” वेबसाइट का होमपेज ओपन हो जायेगा। जैसे की आप इस इमेज में देख सकते है।

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

आप इंटरनेट में जितनी भी वेबसाइट देखते है। उन सभी में होमपेज शामिल होता है।

7. category page क्या है।

आप ने कभी केटेगिरी पेज का नाम भी सुना होगा। तो आप लीजिये की होम पेज और वेबपेज के अलावा एक नाम केटेगिरी पेज का भी आता है। तो आप इसे भी जान लीजिये। जैसा की आप किसी भी साइट में जाते है।

तो अगर आप लैपटॉप एक या या कम्प्यूटर में किसी वेबसाइट को खोलते है। उस पेज ऊपर की और कुछ मेनू होते है। जिनको अलग अलग नाम से जोड़ा होता है। वह केटेगिरी पेज ही होते है। अगर आप किसी वेबसाइट में देखते है।

तो आपको ऊपर की और लेफ्ट या राइट साइड में कुछ तीन लाइन दिखाई दिखाई देंगी। अगर आप उन को क्लीक करते है। तो आपको उस वेबसाइट के सभी केटेगिरी पेज दिखाई दे जाते है।

हम आपको बता दे की वेबसाइट दो प्रकार की होती है। एक स्टैटिक और एक डायनमिक स्टेटिक साइट में शायद आपको ये पेज दिखाई ना दे। लेकिन डायनमिक साइट में आपको पेज दिखाई दे जाते है।

हम आपको ये जानकरी भी देंगे की डायनमिक और स्टेटिक साइट क्या होती है। लेकिन इस से पहले आप ये जा लीजिये की आखिर वेबपेज वेबसाइट में क्या डिफरेंस होता है।

8. difference between static and dynamic web page in Hindi

webpage

website

वेबपेज केवल एक ही पेज होता है। जिस प्रकार साधारण कागज का एक सिंगल पेज होता है। लेकिन वेबसाइट बहुत सारे वेबपेज का समूह होता है। जैसे कोई बुक जिसमे बहुत सारे पेज होते है।
वेबपेज को बनाने के लिए आपको कोई शुल्क चुकाने की आवश्कता नहीं रहती है। लेकिन अगर आप एक वेबसाइट का निर्माण करेंगे। तो आपको एक निश्चित शुल्क जमा करवाने की आवश्कता होती है। यानिकि वेबसाइट फ्री नहीं बना सकते है।
वेबपेज वेबसाइट का एक हिस्सा है। जिसके कारण वेबसाइट के अन्य पेज को आपस में जोड़ा जाता है। वेबसाइट किसी भी एक समाना पेजो का एक समूह होता है। जैसे कोई बुक और इस समूह को वेबसाइट के नाम से जाना जाता है। और वेबसाइट के नाम या यूआरएल से खोला जा सकता है।
वेबपेज को में किसी भी प्रकार से कोई एक्सटेंसन उपयोग नहीं होता है। लेकिन वेबसाइट के लिए विभिन प्रकार के एक्सटेंसन का उपयोग किया जा सकता है।
वेबपेज का यूआरएल वेबसाइट के यूआरएल के आधार पर बनता है। जबकि वेबसाइट का यूआरएल निश्चित और निर्धारित होता है।
वेबपेज का निर्माण करने में अधिक समय नहीं लगता है। लेकिन किसी वेबसाइट का निर्माण करने में काफी समय की खपत होती है।
एक वेबपेज बनाने के लिए किसी वेबसाइट की आवश्कता नहीं रहती है। एक वेबसाइट को बनाने के लिए बहुत सारे वेबपेजों की आवश्यकता पड़ती है.
वेबपेज को साधारण नोटपेड या नोटपैड ++ से ही बनाया जा सकता है। लेकिन हम वेबसाइट को नोटपेड या नोटपैड ++ की सहायता से नहीं बना सकते है।
केवल एक वेबपेज बनाने के लिए अधिक टेक्नीकल जानकारी की आवश्कता नहीं रहती है। लेकिन एक वेबसाइट बनाने के लिए हमें अधिक टेक्नीकल जानकारी की आवश्कता होती है।

9 .Types of Webpage in Hindi-वेबसाइट या वेबपेज के विभिन्न प्रकार

वेबसाइट या वेबपेज आप चाहे जो मान सकते है। यह मुख्यत दो प्रकार के होते है।

1. Static Webpage
2. Dynamic Webpage

तो चलिए दोस्तों अब हम ये जानते है। की इनमे क्या अंतर् है। और ये दोनों किस प्रकार भीं है। और ये कार्य किस प्रकार करते है। सबसे पहले हम स्टेटिक पेज के बारे में जानते है।

Static Website

हम आपको सबसे आसान भाषा में समझते है। की स्टेटिक वेबसाइट क्या होती है। स्टेटिक वेबसाइट उस वेबसाइट को कहा जाता है। जिसमे आप को एक निश्चित जानकारी ही मिलती है।

चाहे आप उस वेबसाइट को कितनी भी बार ओपन करो। क्योकि इनमे बहुत ही कम बदलाव किये जाते है। और आप केवल उस डाटा को पढ़ सकते है। न की आप कोई बदलाव कर सकते है।

और यूजर के अनुरोध करने से डारेक्ट सर्वर से डाटा यूजर के मोबाइल तक पहुंचता है। इस प्रकार की वेबसाइट कुछ कम्पनी के बारे में इन फोर्मेसन वाली होती है। या कुछ टूल वेबसाइट भी हो सकती है।

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

जैसे टेक्स्ट और स्टाइलिश करने वाले टूल अगर आप इस वेबसाइट messletters में जाते है। तो आपको केवल एक ही पेज मिलेगा। जो आपको सिंपल टेक्स्ट को विभिन प्रकार के स्टाइलिश आकर देता है। जिसे आप कही भी उपयोग कर सकते है। आप इस इमेज में देख सकते है। की वेबसाइट कैसे काम करती है।

Dynamic Webpage

जैसा की हम इसके नाम से समझ रहे है। डायनमिक यानिकि जो एक स्थिर अवस्था में न रहे। इसके लिए सबसे अच्छा उदाहरण आप फेसबुक का समझ सकते है। क्योंकि अगर आप अपने मोबाईल में फेसबुक अगर फेसबुक लिख कर सर्च करेंगे तो आपके सामने फेसबुक खुल जाएगी।

और इसी प्रकार अगर आपका फ्रेंड भी facebook ओपन करता है। अपने मोबाईल में तो उसके मोबाईल में भी फेसबुक ओपन हो जाएगी। लेकिन दोनों मोबाईल में स्क्रीन में आ रहा डाटा एक समान नहीं होता है।

दोनों ही मोबाईल में अलग अलग डाटा होता है। लेकिन दोनों ही मोबाईल में एक ही वेबसाइट को खोला गया था। इसी प्रकार से काम करती है। डायनमिक वेबसाइट अगल अलग व्यक्ति के अनुसार डाटा प्रश्तुत करती है।

what is web page in hindi- pages in hindi- web page in hindi- what is web page- web page example - types of web pages- what is the difference between webpage and website

यह केवल यूजर से सर्वर के क्नेक्सॉन के आधार से काम नहीं करती है। बल्कि इसमें डाटाबेस का भी कार्य रहता है। इस प्रकारिया को समझना थोड़ा मुस्किन और अधिक समय लगने वाला है। इसलिए इस हम अलग से समझेंगे आने वाले समय में।

डायनमिक वेबपेज को बनाने के लिए जिस तकनीक का उपयोग किया जाता है, DHTML नाम दिया गया है। DHTML की Full Form Dynamic Hypertext Markup Language होती है।

पाठ निष्कर्ष

दोस्तों हमने इस पाठ में आपको webpage और website के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है। अगर आप जानकारी में कुछ समझ नहीं आया तो कमेंट में पूछ सकते है। साथ ही आप अपना अनुभव भी हमारे साथ साझा कर सकते है। धन्यवाद।

read more

▷How To Create Table In Html In Hindi

▷Blogger Me Whatsapp Share Button Kaise Lagaye

Difference between static and dynamic website

Click to comment

Leave a Reply

tranding